Thursday, June 17, 2010

परहेज़ करना कोई गीत गाने से ~~

हिन्दयुग्म पर मेरी रचना

परहेज़ करना कोई गीत गाने से

 

image

7 comments:

अजय कुमार झा said...

क्या वर्मा जी .....यहां तो जिंदा मरी हुई कोई भी चिडिया नज़र नहीं आ रही है ...मगर उसकी आत्मा जरूर भटक रही थी ..माईनस लगा के निकल ली ....हमने एक प्ल्स मारा तो आपका स्कोर अंडा हो गया ..।बाकी बातें बाद में करेंगे ।

अजय कुमार झा said...

कविता भी पढ आया हूं ..हमेशा की तरह एक संवेदनशील कवि के ह्रदय से निकली एक उत्कृष्ट रचना ।

Shah Nawaz said...

वर्मा जी, कविया बहुत ही ज़बरदस्त है! बहूत ही खूब

महफूज़ अली said...

हमेशा की तरह लाजवाब....

महेन्द्र मिश्र said...

बहुत बढ़िया सर ....आभार

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत मार्मिक चित्रण किया है आपने इस कविता में...

Ashutosh Dubey said...

बहुत अच्छी पोस्ट !
हिंदीकुंज

विश्व रेडक्रास दिवस

विश्व रेडक्रास दिवस
विश्व रेडक्रास दिवस पर कविता पाठ 7 मई 2010

हिन्दी दिवस : काव्य पाठ

हिन्दी दिवस : काव्य पाठ
हिन्दी दिवस 2009

राजस्थान पत्रिका में 'यूरेका'

राजस्थान पत्रिका में 'यूरेका'

हमारी वाणी

www.hamarivani.com

ब्लागोदय


CG Blog

एग्रीगेटर्स

आपका पता

विजेट आपके ब्लॉग पर

ब्लागर परिवार

Blog parivaar

लालित्य

ग्लोबल भोजपुरी