Wednesday, October 13, 2010

क्या कहते हैं ये चित्र ?

सुबह-सुबह पार्क में टहलते हुए पार्क के पीपल के पेड़ के पास यह नज़ारा देखा और मोबाईल कैमरे से फोटो ले लिया. आखिर ये चित्र क्या सन्देश दे रहे हैं आप ही बताएँ......

image

image

image

image

5 comments:

Sunil Kumar said...

हम नहीं सुधरेंगे

सतीश सक्सेना said...

हमारी आदत में शुमार हो गया गन्दगी फेंकना और बिखेरना ! निराशाजनक स्थिति !

Archana said...

निमाड़ी बोली में एक कहावत है ---भणया पर गुणया
नई ---"मतलब पढ़ तो लिए पर गुणवान नहीं बने"

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

अफसोसजनक ...

शरद कोकास said...

पूजा पाठ से प्रदूषण फैलता है ।

विश्व रेडक्रास दिवस

विश्व रेडक्रास दिवस
विश्व रेडक्रास दिवस पर कविता पाठ 7 मई 2010

हिन्दी दिवस : काव्य पाठ

हिन्दी दिवस : काव्य पाठ
हिन्दी दिवस 2009

राजस्थान पत्रिका में 'यूरेका'

राजस्थान पत्रिका में 'यूरेका'

हमारी वाणी

www.hamarivani.com

ब्लागोदय


CG Blog

एग्रीगेटर्स

आपका पता

विजेट आपके ब्लॉग पर

ब्लागर परिवार

Blog parivaar

लालित्य

ग्लोबल भोजपुरी