Saturday, July 31, 2010

पहचान पायेंगे क्या?

इन्हें पहचानिये :

image

 

image

चित्र : गुगल सर्च साभार

17 comments:

अविनाश वाचस्पति said...

कैसे पहचानें
अदरक से हम
कभी मिले ही नहीं

honesty project democracy said...

वाह क्या अदरक और शायद आलू है ,आपने तो नया प्रयोग कर दिया वाह ...

Sunil Kumar said...

एक तो खरगोश कि शक्ल में अदरक है दूसरा आलू है शक्ल टेडी बेअर से मिलती है मन गए आप को

महफूज़ अली said...

हाँ! यह अदरक ही है... मैं पहचान गया हूँ....


अब


लाइए मेरा इनाम...

ललित शर्मा said...

अदरक और आलु
खरगोश और भालु

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

अदरक तो ठीक है
पर आलू नहीं है
मुझे तो लगती है अरबी
जिसे बहुत से लोग
घुय्याँ भी कहते है
क्या मेरी बात सही है ?

:):)

Razia said...

यह अदरक और आलू है

Tafribaz said...

अदरक और आलू की तफ्री, बा भाई बा!

Tafribaz said...

अदरक और आलू की तफ्री, बा भाई बा!

Tafribaz said...

अदरक और आलू की तफ्री, बा भाई बा!

Tafribaz said...

अदरक और आलू की तफ्री, बा भाई बा!

Tafribaz said...

अदरक और आलू की तफ्री, बा भाई बा!

Tafribaz said...

अदरक और आलू की तफ्री, बा भाई बा!

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक said...

अरे कुछ भी हो?
हमें खाने से मतलब है!

'अदा' said...

hai to adrak ..lekin khargosh ki shakl mein...
bahut khoob..!

शिवम् मिश्रा said...

एक बेहद उम्दा पोस्ट के लिए आप को बहुत बहुत बधाइयाँ और शुभकामनाएं !
आपकी चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है यहां भी आएं

Archana said...

पहले वाली तो हल्दी भी हो सकती है ....
दुसरी शायद अदरक.....

विश्व रेडक्रास दिवस

विश्व रेडक्रास दिवस
विश्व रेडक्रास दिवस पर कविता पाठ 7 मई 2010

हिन्दी दिवस : काव्य पाठ

हिन्दी दिवस : काव्य पाठ
हिन्दी दिवस 2009

राजस्थान पत्रिका में 'यूरेका'

राजस्थान पत्रिका में 'यूरेका'

हमारी वाणी

www.hamarivani.com

ब्लागोदय


CG Blog

एग्रीगेटर्स

आपका पता

विजेट आपके ब्लॉग पर

ब्लागर परिवार

Blog parivaar

लालित्य

ग्लोबल भोजपुरी